देश में कोरोना संकट के बीच 8 जून से धार्मिक स्थलों को खोला जायेगा। इसके लिए केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने बीते गुरुवार को धार्मिक स्थलों को लेकर गाइडलाइन जारी की है।

जारी गाइडलाइन में कहा गया है कि किसी भी धार्मिक स्थल में मूर्ति छूना नहीं होगा। परिसर में एंट्री से पहले सभी को अपने हाथ और पैर साबुन से धोने होंगे। परिसर में एंट्री के समय सबके शरीर का तापमान चेक किया जाएगा।

मिली जानकारी के अनुसार, धार्मिक परिसर में केवल उन्हीं को प्रवेश मिलेगा जिनमें कोरोना वायरस (कोविड-19) का कोई लक्षण नहीं होगा। बगैर फेस मास्क पहने लोगों का प्रवेश पूरी तरह से वर्जित किया गया है। इस गाइडलाइन में धार्मिक स्थल में पूजा-पाठ और प्रार्थना करने के लिए कई जरूरी बातें कहीं गई हैं।

धार्मिक स्थलों में प्रेवश से पहले करना होगा ये काम

* लोग अपने वाहन में ही जूती-चप्पल उतारें * प्रवेश से पहले साबुन से हाथ और पैर अच्छे से धोएं। * प्रवेश के लिए कतार में लगने पर एक दूसरे से कम से कम छह फीट की दूरे बनाएं। * हैंड सैनिटाइजर और थर्मल स्क्रीनिंग जरूरी है। * जिस शख्स में कोरोना वायरस के लक्षण है उन्हें प्रवेश नहीं मिलेगा। * मास्क पहनना पडेगा। * सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बनी स्पेशल मार्किंग। * थूकने पर रहेगी पाबंदी। * सरकार ने 65 साल से अधिक के बुजुर्ग, 10 साल के कम उम्र के बच्चों को बाहर नहीं निकलने की सलाह दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here